Advertisement

ब्लॉगिंग क्या है और कैसे करे ?

ब्लॉगिंग यह शब्द ब्लॉग से आया है। जब से इंटरनेट आया है और सामान्य लोगो के लिए उपलब्ध हुआ है तबसे ही कई लोगो ने अपनी जानकारी और अपनी रुचियों को लोगो तक पोहचाने के लिए ब्लॉग बनाना शुरू कर दिया था। 

ब्लॉगिंग क्या है और कैसे करे

यह पोस्ट पढ़ने के बाद आपको ब्लॉगिंग क्या है और इसे कैसे करे इस बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो जाएगी। ब्लॉगिंग क्या है यह जानने से पहले आपको ब्लॉग क्या है यह पता होना बेहद जरुरी है। इस लिए हम पहले ब्लॉग क्या है इसके बारे में जानेंगे। 

ब्लॉग क्या है ?

जबसे इंटरनेट सामान्य लोगो के लिए उपलब्ध हुआ, कई लोगो ने रोज़ तारीख के साथ वेब लॉग लिखना शुरू कर दिया। वह लोग अपने वेब लॉग में अपनी जानकारी और रुचियों के बारे में लिखने लगे। 

जैसे जैसे वक़्त बीतता गया वैसे वैसे इन लोगो के वेब लॉग्स में कई लोग इन्हे पढ़ने आने लगे। और धीरे धीरे यह वेब लॉग्स सामान्य लोगो के लिए ज्ञान और जानकारी का स्त्रोत बन गए। 

यह सामान्य लोग उन वेब लॉग्स के नियमित पाठक बन गए और इन्हे संक्षिप्त में ब्लॉग कहने लगे, इसी तरह ब्लॉग इस शब्द की निर्मति हुई। 

ब्लॉग की परिभाषा: ब्लॉग एक ऐसी वेबसाइट होती है जिसमे लोग अपनी जानकारी या रुचियों के बारे में नियमित रूप से लिखते है ताकि पाठको को जरुरी जानकारी इंटरनेट के माध्यम से प्राप्त हो।

ब्लॉगिंग क्या है ?

ब्लॉग लिखने की प्रक्रिया को ब्लॉगिंग कहते है और ब्लॉग लिखने वाले व्यक्ति को ब्लॉगर कहते है। जबसे ब्लॉग सामान्य लोगो के लिए ज्ञान और जानकारी स्त्रोत बन गए, तब से ब्लोग्स पर रोजाना आने वालो पाठको की संख्या भी बढ़ गई। 

जब ब्लॉग पाठको की संख्या बढ़ी तब ब्लॉग मालिकों को ज्ञात हुआ के वह अपने ब्लॉग पर किसी उत्पाद का विपणन या विज्ञापन करने से वह पैसे कमा सकते है, और वह ऐसा कर के पैसे कमाने लगे।

कुछ समय पश्चात ब्लॉगर्स को गूगल के एक AdSense नामक प्लेटफार्म के बारे में पता चला जो एडवरटाइजर कंपनियों और ब्लॉगर्स के ब्लॉग के बिच की कड़ी बन कर दोनों की मदद करने का गूगल द्वारा बनाया प्लेटफार्म था। 

अगर आप AdSense के बारे में और जानना चाहते है तो Google AdSense क्या है ? यह पोस्ट जरूर पढ़े। 

ब्लॉगिंग का विस्तार 

AdSense के आने के बाद ब्लॉगर्स के लिए पैसे कामना और भी आसान हो गया क्युकी अब AdSense खुद ही ब्लॉग पर विज्ञापन लगा कर उससे होने वाली कमाई उस ब्लॉग के मालिक को दे देता था। 

इसी कारन अब ब्लॉगर को अपने ब्लॉग के लिए विज्ञापक ढूंढने की जरुरत नहीं थी और वह लाखो में पैसे कमाने लगा। 

ब्लॉगर्स की इस कमाई को देखते हुए काफी सारे लोग ब्लॉगिंग की तरफ बढ़ने लगे और कुछ लोगो ने तो ब्लॉगिंग को अपना प्रॉफ़ेशन ही बना डाला। 

आज इंटरनेट पर लाखो ब्लॉग्स है और उन ब्लॉग्स को पढ़ने वाले करोडो पाठक है जो अपनी परेशानियों का हल ढूंढने के लिए इंटरनेट पर नियामत रूप से उनके बारे में सर्च करते है। 

ब्लॉगिंग के प्रकार 

१. माइक्रो निच ब्लॉगिंग: किसी एक मुख्या श्रेणी के बारे में की जाने वाली ब्लॉगिंग को माइक्रो निच ब्लॉगिंग कहते है। 

२. मल्टिनीच ब्लॉगिंग: सभी प्रकार के ब्लॉगिंग को एक ही ब्लॉग में करने के तरीके को मल्टिनीच ब्लॉगिंग कहते है। 

३. हॉबी ब्लॉगिंग: अपने हॉबी या रूचि से सम्भंदित ब्लॉग बनाकर करने वाली ब्लॉगिंग को हॉबी ब्लॉगिंग कहते है। 

४. एफिलिएट ब्लॉगिंग: इस ब्लॉगिंग के प्रकार में सिर्फ ऐसे उत्पादों के बारे में ब्लॉग बनाया जाता है जिन्हे बेचकर ब्लॉगर उनसे एफिलिएट इनकम कमा सके। 

५. इन्फॉर्मेशनल ब्लॉगिंग: ऐसा ब्लॉग जिसमे सिर्फ जानकारी और ज्ञान प्रदान किया जाता हो उसे बनाकर ब्लॉगिंग करने की प्रक्रिया को इन्फॉर्मेशनल ब्लॉगिंग कहते है। 

६. मीडिया ब्लॉगिंग: मीडिया ब्लॉगिंग में ब्लॉगर मीडिया फाइल जैसे इमेज, ऑडियो या वीडियो फाइल को लोगो तक पोहचाता है उसे मीडिया ब्लॉगिंग कहते है। 

७. इवेंट ब्लॉगिंग: इवेंट ब्लॉगिंग कम समय में सिर्फ किसी त्यौहार के बारे में ब्लॉग बनाकर करने वाली ब्लॉगिंग को कहते है। इस ब्लॉगिंग में ब्लॉगर कम समय में ज्यादा पैसे कमा लेते है। 

ब्लॉगिंग कैसे करे ?

आज के डिजिटल ज़माने में ज्यादातर लोग जानकारी या मीडिया के लिए इंटरनेट पर सर्च करते है। इंटरनेट पर लोग जितनी चीज़े सर्च करते है उनमे से कई चीजे उन्हें मिलती नहीं। ऐसी ही चीजों को ढुंडके उनके बारे में लिख कर आसानी से ब्लॉगिंग की जा सकती है। 

ब्लॉगिंग करने के लिए किन चीज़ो की ज़रूरत होती है ?

१. कंप्यूटर या स्मार्टफोन: ब्लॉगिंग करने के लिए आपके पास एक कंप्यूटर या स्मार्टफोन होना चाहिए और साथ ही इंटरनेट की थोड़ी समझ होनी चाहिए। अगर आपके पास कंप्यूटर है तो बोहोत अच्छा, पर अगर आपके पास सिर्फ स्मार्ट फ़ोन हो तो भी आप ब्लॉग्गिंग कर सकते है। 

२. किसी बारे में ज्ञान: साथ ही आपको किसी एक श्रेणी के बारे में अच्छा ज्ञान भी होना चाहिए, ताकि जब आप उसके बारे में ब्लॉग शुरू करे तो उसमे उस बारे में जानकारी दे सके। 

३. अच्छा इंटरनेट कनेक्शन: साथ ही आपके पास एक अच्छा इंटरनेट कनेक्शन भी होना चाहिए। आप अपने मोबाइल या स्मार्टफोन का इंटरनेट भी इस्तेमाल कर सकते है। 

अगर आपके पास ऊपर दी हुई सभी चीज़े है तो आप ब्लॉगिंग शुरू कर सकते है। 

ब्लॉगिंग कहा से शुरू करे ?

१. वर्डप्रेस: ब्लॉगिंग को शुरू करने के लिए सबसे अच्छा प्लेटफार्म वर्डप्रेस है। वर्डप्रेस एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसके लिए होस्टिंग की जरुरत होती है, जिसकी वजह से इस प्लेटफार्म में ब्लॉगिंग करने के लिए कुछ पैसो की जरुरत होती है। 

२. ब्लॉगर: पर अगर आप के पास पैसो की कमी हो तो आप गूगल द्वारा संचालित ब्लॉगर प्लेटफार्म पर भी फ्री में ब्लॉग बना सकते है। यह प्लेटफार्म फ्री है पर इसमें आपको सब डोमेन के साथ ब्लॉग बनाना होगा। वैसे अगर आप डोमेन खरीद लेते है तो आप ब्लॉगर पर उसे जोड़ भी सकते है। 

आप ऊपर दिए गए वर्डप्रेस या ब्लॉगर प्लेटफार्म पर ब्लॉग बना कर अपनी ब्लॉगिंग की शुरुवात कर सकते है। 

ब्लॉग कैसे लिखे ?

इंटरफ़ेस 

  • आप वर्डप्रेस या ब्लॉगर दोनों में से किसी भी प्लेटफार्म पर अपना ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो इनमे ब्लॉग लिखना बोहोत ही आसान है। 
  • ब्लॉगर और वर्डप्रेस दोनों में जब आप पोस्ट लिखने जाएंगे, तब आपको एक आसान इंटरफ़ेस दिखेगा, जिसमे ब्लॉग लिखने के लिए टेक्स्ट एरिया होगा और उस टेक्स्ट तो एडिट करने के लिए सभी विकल्प ऊपर दिए होंगे। 
  • उन्ही विकल्पों का इस्तेमाल कर के आप आसानी से ब्लॉग लिख सकते है। 

तरीका

  • अगर आप अच्छा ब्लॉग पोस्ट लिखना चाहते है तो आपको उस पोस्ट के बारे में सभी जरुरी ज्ञान होना जरुरी है। 
  • आप जिस भी बारे में लिखेंगे उसे अच्छे ढंग से लिखिए। सही तरीके से हैडिंग, सब हैडिंग और जहा जरुरत हो वहा उस मुद्दे को दर्शाती तस्वीर देकर आप अपनी पोस्ट को अच्छा बना सकते है। 
  • हमेशा ऐसी पोस्ट लिखे जिसमे पाठक को सभी चीजे समझायी गयी हो, ताकि पाठक को आपकी पोस्ट पढ़ने के कही और उस बारे में पढ़ने की जरुरत न हो। 
  • आप आपकी पोस्ट गूगल में आसानी से उपलब्ध करने के लिए उसमे सही कीवर्ड का इस्तेमाल करे ताकि जब कोई उस बारे में गूगल में सर्च करे तो उसे आपकी पोस्ट मिले। 

ब्लॉग का बुनियादी SEO कैसे करे ?

आपका ब्लॉग जब नया होता है तब उसके बारे में गूगल जैसे सर्च इंजन को जल्दी पता नहीं चलता, जिसकी वजह से मेहनत करने के बाद भी आपके ब्लॉग पर पाठक नहीं आते।  इसी कारन ब्लॉग का बुनियादी SEO करना जरुरी होता है। 

  • आप अपने ब्लॉग पोस्ट को ढंग से और विस्तार से लिखे। 
  • अपनी ब्लॉग पोस्ट को पाठक को आसानी से समझे ऐसा बनाये। 
  • अपने ब्लॉग को गूगल द्वारा संचालित सर्च कंसोल पर जरूर जोड़े। 
  • अपने ब्लॉग के नाम से बड़ी वेबसाइट्स जैसे 'फेसबुक, ट्विटर' इत्यादि पर प्रोफाइल बनाकर अपने ब्लॉग की लिंक डाल दे।
  • अपने ब्लॉग में इंटरलिंकिंग करे। 
  • अपने दोस्तों के ब्लॉग से अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक ले। 

वैसे तो SEO बोहोत जटिल है पर ऊपर दिए तरीको से आपका बुनियादी SEO हो जाएगा। 

निष्कर्ष: आशा करता हु इस पोस्ट से आपको ब्लॉगिंग क्या है और ब्लॉगिंग कैसे करे के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो गयी होगी। अगर आपको लगता है की हमने इस पोस्ट में किसी मुद्दे को छोड़ दिया है तो आप निचे कमेंट कर के जरूर बताए, हम उसे जल्द ही इस पोस्ट में शामिल कर देंगे। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ